ExamKida

विज्ञान में कैरियर


समय के साथ साइंस फिर से विद्यार्थियों की पहली पसंद बनता जा रहा है | केवल इंजीनियरिंग व मेडिकल के अलावा भी विज्ञानं विषय के छात्र ढेरों ऐसे कोर्स व पढाई है जो  कर सकते है जिनकी विस्तार से जानकारी आज आपको इस पोस्ट के माध्यम से मिलेगी|

 एस्ट्रोनॉमी, जेनेटिक इंजिनियर, माइक्रोबायोलॉजी सहित कईं अन्य नए क्षेत्र है, जिनमे सुनहरे करियर के सपने संजोय जा सकते है|

बायोलॉजी

बायोलॉजी के छात्र बायोटेक्नोलॉजीस्ट, बायोकमिस्ट, मिक्रोबिओलोजिस्ट, फोरेस्टर , एन्थ्रोपोलॉजी या जेनेटिक इंजिनियर आदि के रूप में करियर बना सकते है| स्कूल स्तर पर बायोलॉजी पढने के बाद विभिनविषयों की अलग-अलग उच्च शिक्षा लेनी पड़ती है | वैज्ञानिक कार्यो में रूचि रखने और डिग्री लेने के बाद आगे भी पढाई जरी रखने के इच्छुक युवा ही इस क्षेत्र में आएं |

बायोटेक्नोलॉजी में बी एस सी करने की सुविधा आज के समय में भारत के हर कॉलेज व् यूनिवर्सिटी में उपलब्ध है|

जियोलॉजी:-

यह विज्ञानं की वह शाखा है जो धरती में छिपे रहस्यों जैसे पृथ्वी की बनावट , उसकी संरचना, उसके अन्दर छिपे खनिज तेल , पानी आदि के बारे में बताती है | फिजिक्स केमिस्ट्री तथा गणित विषयों के साथ बारहवी पास छात्र इसमें प्रवेश ले सकते है | प्रवेश के लिए मेरिट परीक्षा पास करना जरूरी होते है | इस क्षेत्र में प्रयोगशाला में काम करने के अलावा फील्ड में भी काम करना पड़ता है | यदि आप वैज्ञानिक सोच तथा विश्लेषण करने की तथा खोजबीन करने के क्षमता रखते है तो आप इस क्षेत्र में सफल हो सकते है सबसे ज्यादा विदेशो से नौकरियों की मांग इस क्षेत्र में है इसके अलावा यदि आप भारत सरकार की नवरतन कम्पनी में भी काम करने के सपने देखते है तो इससे बेहतर विकल्प आपके पास हो ही नही सकता |

फॉरेस्ट्री :

वैसे तो ये क्षेत्र युवाओ के लिए थोडा नया है पर सबसे ज्यादा एडवेंचर इसी क्षेत्र में होता है वनकर्मियो की मुख्य जिमेदारी जीववैज्ञानिक तकनीकों से वनसंपदा का प्रबंधन करना होती है| कैरियर के सुरुवाती वर्षो में काफी समय खुले जंगलो में और मैदानों में बिताना पड़ता है| कुछ वनकर्मी प्रयोगशालाओं , लकड़ी आधारित उद्योगों, आरा मशीन केन्द्रों या पेपर मीलों में भी काम पा सकते है|

भारत की सबसे बड़ी प्रशासनिक सेवा मानी जानी वाली आईएस की नौकरी के साथ एक विकल्प के तौर पर भारतीय वन सेवा भी है जिसे हम IFS  के नाम से जानते है| इस नौकरी की परीक्षा भी सिविल सर्विस एग्जाम के साथ होती है जोकि की UPSC द्वारा ली जातीहै| इस परीक्षा में पास होने के पश्चात आप वन अधिकारी के रूप में चुने जाते है| जोकि बाद में जिला वन अधिकारी के रूप में देश के अलग अलग राज्यों में अपनी सेवाएँ देते है|

इन्टरनेट के युग में आप विडियो ब्लॉगर या किसी बड़ी कंपनी के साथ जुड़ कर फ्रीलांसर भी बहुत साडी कमाईकर सकते है|

मेडिकल टेक्नोलॉजी;-

चिकित्सामें काम आने वाले उपकरणों और मशीनों के संचालन के लिए तकनीकीज्ञान वाले कुछ कर्मचारियों की जरूरत होती है| आज के समय में युवा केवल दो चार आप्शन में से अपने लिए कैरियर का चुनाव करता है परुन्तु यदि कुछ नयाऔर जिसमें नौकरी की आपार सम्भावनाये है उन कैरियर में से एक है मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट , जिसे चुन कर आप बन सकते है रेडियोग्राफर , physiotherapist आदि| देश व विदेश में कोरोना के संकट के दौरान मेडिकल क्षेत्र में जॉब के अनेको अवसर बन गये है हर देश अपने मेडिकल क्षेत्र को मजबूत करने में लगा हुआ है और आने वाले सदी मेडिकल के फील्ड में जॉब की भरमार लेकर आएगी इसलिए बारहवी क्लास में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी पढ़ चुके विद्यार्थी एक वर्ष का रेडियोग्रफेर का कोर्स भी कर सकते है व बहुत सारे प्राइवेट संस्थान १ वर्ष से लेकर 4 वर्ष तक के कोर्स करवाते है जिनकी जानकारी आने वाले पोस्ट में विस्तार से दे दी जाएगी

मर्चेंट नेवी:-

मर्चेंट नेवी में देशी-विदेशी कंपनियों के मालवाहक पोत तथा यात्री जलपोत दोनों ही शामिल होते है| फिजिक्स , केमिस्ट्री तथा गणित या बायोलॉजी के साथ बारहवी करने के बाद आप मैरिन इंजीनियरिंग का पाठ्यक्रम जोकि की चार वर्षका होता है कर सकते है | जोकि की कोलकाता स्थित मैरिन इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट द्वारा करवाया जाता है इसके अलावा आप बीएससी इन मैरिन साइंस भी कर सकते है जोकि आई आईटी मुंबई के साथ IGNOU  द्वारा करवाई जाति है

इस पाठ्यक्रम के अलावा आप डेक कैडेट का एक वर्षीय कोर्स भी किसी प्राइवेट संस्थान के माध्यम से कर सकते है | इन सभी प्रकार के कोर्सेज में दाखिला लेने से पहले आपके शारीरिक व मानसिक जाँच होती हैइ इसलिए आपको शारीरिक वमानसिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है|

मर्चेंट नेवी मे काम करने वालों को महीनो तक जल यानि समुन्दर के अन्दर जहाज पर रहना पड़ता है और हर प्रकार की परस्थितियो का सामना करना पड़ता है|

परन्तु आप इस जोखिम के साथ पूरा विश्व घूम सकते हो इसके अलावा आपकी कमाई किसी भी जॉब से बहुत ज्यादा होती है शुरुवाती समय में आपको 40 से 50 हजार महीने के मिलते है परन्तु अनुभव के बाद आपकी सैलरी लाखों रुपये महिना हो जाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *